Yorkshire Terrier Health And Care Tips in Hindi

Yorkshire Terrier Health And Care Tips: दोस्तों यॉर्की नस्ल आम तौर पर स्वस्थ होती हैं। लेकिन सभी अन्य नस्लों की तरह, इनमें भी कुछ बीमारियाँ देखी जा सकती है। यदि आप भी एक योर्कि ओनर बनना चाहते हैं तो आपको इनके स्वास्थ्य और केयर टिप्स के बारे में एक बार जान लेना चाहते हैं, तो चलिए शुरू करते हैं। इनसे जुड़े हमारे कुछ महत्वपूर्ण लेख आप नीचे दिए गए लिंक से पढ़ सकते हैं।

Yorkshire Terrier Health And Care Tips –

यदि आप एक योर्कि पिल्ला खरीदने जा रहे हैं तो हमेशा एक अच्छा ब्रीडर की तलाश करें जो आपको पिल्ला के माता-पिता दोनों के स्वास्थ्य की गारंटी दे सकता है। आइए अब इसके स्वास्थ्य के बारे में जानते हैं..

यॉर्कशायर टेरियर में कौन-कौन सी बीमारी हो सकती है?

यदि आप मार्केट से यॉर्कशायर टेरियर खरीद रहे तो आपको इनमें हिप डिस्प्लेशिया, एल्बो डिस्प्लेशिया, हाइपोथाइरॉएडिज्म और Von Willebrand जैसी बीमारियों की जांच जरूर करनी चाहिए। आप इनके स्वास्थ्य से जुड़ी और जानकारी ऑर्थोपेडिक फाउंडेशन ऑफ एनिमल्स (OFA) की आधिकारिक वेबसाइट OFFA.Org से प्राप्त कर सकते हैं। अब आइए यॉर्कशायर टेरियर में होने वाली कुछ बीमारियों के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं..

READ  Miniature Schnauzer का स्वास्थ्य और देखभाल कैसे करें?
Yorkshire Terrier Health And Care Tips in Hindi
Yorkshire Terrier Health And Care Tips in Hindi

1- Patellar Luxation

इस बीमारी को “slipped stifles“ के नाम से भी जाना जाता है। यह बीमारी मुख्य तौर पर छोटी नस्ल वाले कुत्तों में पाई जाती है। इसकी उत्पत्ति तब होती है जब Patella जिसके तीन प्रमुख भाग होते हैं जिनमें पहला फिमर जिसे जाँघ की हड्डी कहते हैं, दूसरा पटेला जो कि घुटने के ऊपर का ढक्कन होता है और तीसरा टीवीआ, का संरेखण बिगड़ जाता है।

इसकी वजह से आपके पप्पी में लंगड़ापन आ जाता है। यह एक ऐसी बीमारी है जो कि पिल्ले में जन्म से देखी जा सकती है। यह बीमारी आगे चलकर अर्थराइटिस का रूप ले लेती है क्योंकि उन एक प्रकार की जोईँत डिज़ीज़ है।

Yorkshire Terrier Health
Yorkshire Terrier Health/Getty

Patellar Luxation को इसके ग्रेड के आधार पर चार भागों में बांटा गया है जिनमें ग्रेड-I वोकेशनल लकजेसन जोकी एक अस्थाई लंगड़ापन होता है से लेकर ग्रेड-IV जिनमें टीवीआ बुरी तरह से मुड़ने तक शामिल है।

उपचार

इस बीमारी को बिना सर्जरी के सही नहीं किया जा सकता है। अतः हम आपको सलाह देते हैं कि जैसे ही आप के पिल्ले में यह बीमारी अपने शुरुआती अवस्था में देखने को मिले आप किसी जानकार नजदीकी पशु चिकित्सक की सलाह लें और ट्रीटमेंट करवाएं।

READ  American Bully Types in Hindi With Photo [Top 5]

2- प्रोग्रेसिव रेटिनल अट्रॉफी (Progressive retinal atrophy PRA)

यह मुख्य तौर पर एक आंखों से संबंधित बीमारी है जिसमें कुत्ते की आंखों की रेटिना का धीरे-धीरे क्षय होने लगता है। इस बीमारी के शुरुआती के दिनों में पीड़ित कुत्ते नाइट ब्लाइंड का शिकार हो जाते हैं। उनके देखने की क्षमता खो जाती है। इस बीमारी से पीड़ित ज्यादातर कुत्ते अपनी रोशनी खो देते हैं। इसीलिए इसका तत्काल प्रभाव से इलाज कराना अति आवश्यक है।

3- हाइपोग्लाइसीमिया

कई टॉय और छोटे नस्ल के कुत्तों की तरह, यॉर्कियों भी तनाव होने पर हाइपोग्लाइसीमिया से पीड़ित हो सकता है, खासकर जब वे पिल्ले होते हैं। हाइपोग्लाइसीमिया निम्न रक्त शर्करा के कारण होता है। कुछ संकेतों में कमजोरी, भ्रम, एक डगमगाती चाल और दौरे जैसी चीजें देखने को मिल सकती हैं। यदि आपका कुत्ता इसके लिए अतिसंवेदनशील है, तो रोकथाम और उपचार विकल्पों के के लिए आपको अपने किसी नज़दीकी पशु चिकित्सक से अवश्य सलाह लेनी चाहिए।

4- संकुचित श्वासनली

श्वासनली, जो फेफड़ों तक हवा पहुँचाती है, आसानी से ढह जाती है। एक ध्वस्त श्वासनली का सबसे आम संकेत एक पुरानी, ​​​​सूखी, कठोर खांसी है जिसे कई लोग “हंस हॉंक” के समान बताते हैं। संकुचित श्वासनली का इलाज चिकित्सकीय या शल्य चिकित्सा द्वारा किया जा सकता है।

यॉर्कशायर टेरियर की देखभाल कैसे करें?

यॉर्कशायर टेरियर सामान्य रूप से अपने मालिक के साथ घूमना और खेलना कूदना बहुत पसंद करते हैं। हालांकि स्वभाव से यह नस्लें काफी सक्रिय होती है लेकिन फिर भी यह बहुत ज्यादा प्रयास नहीं करना चाहती है। इनको प्रशिक्षित करने के लिए थोड़ी ज्यादा मशक्कत करनी पड़ सकती है। खासकर इनमें आज्ञाकारीता और अन्य गुणों को विकसित करने के लिए इन पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

READ  Pitbull Dog Health And Remedies: पिटबुल के स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी
Yorkshire Terrier Health
Yorkshire Terrier/Getty

शुरुआती दिनों में लोगों की यह सोच होती है कि यह पिल्ले बहुत छोटे और क्यूट होते हैं इसलिए इनके कई गतिविधियों को लोग खुद कर देते हैं जिसकी वजह से शुरुआत से ही इनमें उसी तरह की प्रवृत्ति आ जाती है, लेकिन यह सबसे बड़ी भूल है।

ऐसा नहीं करना चाहिए आपको अपने पिल्ले को हर-एक गतिविधि करने के लिए उसे मौका देना चाहिए और उस पर प्रयास करना चाहिए। यदि आप सही प्रशिक्षण देते हैं तो एक आदर्श योर्कि निश्चित रूप से तैयार कर सकते हैं।

वास्तव में यह घरों में रहने वाली प्रजाति है इसीलिए बहुत ज्यादा गर्मी और ठंडी इन्हें बर्दाश्त नहीं होती है। इससे बचने के लिए बहुत सारे लोग अपने योर्कि को पेपर ट्रेनिंग देते हैं जिसकी वजह से बहुत ज्यादा गर्मी या ठंडी के मौसम में यह बाहर जाने से बचते हैं।

मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा ''Yorkshire Terrier Health'' से जुड़ा लेख पसंद आया होगा। डॉग से जुड़े ऐसे ही बेहतरीन जानकारियों को पाने के लिए DogKiDuniya को बुक्मॉर्क करें और रोजाना विज़िट करें

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.